Home Computer Networking मैक एड्रेस क्या होता है? और कितने प्रकार, फॉर्मेट की पूरी जानकारी...

मैक एड्रेस क्या होता है? और कितने प्रकार, फॉर्मेट की पूरी जानकारी हिंदी में

मैक एड्रेस क्या होता है?

 MAC का पूरा नाम मीडिया एक्सेस कण्ट्रोल है. मैक एड्रेस को फिजिकल एड्रेस और हार्डवेयर एड्रेस भी कहते है. यह सभी इलेक्ट्रोनिक एंड नेटवर्किंग डिवाइस के लिए एक यूनिक और परमानेंट एड्रेस (Unique & Permanent Address) होता है.

मैक एड्रेस एक एसा नम्बर है जिसके द्वारा आपके कंप्यूटर में लगे नेटवर्क एडाफ्टर (Network Interface Card (NIC)) को पहचाना जा सकता  है.

मैक एड्रेस क्या है? Mac Address in Hindi

MAC एड्रेस को फिजिकल एड्रेस भी कहा जाता है. यह एक यूनिक हार्डवेयर लेवल का एड्रेस है. जिसे मैन्युफैक्चरिंग कंपनी प्रत्येक नेटवर्किंग डिवाइस को प्रदान करता है. इसलिए MAC एड्रेस को हार्डवेयर एड्रेस भी कहा जाता है.

MAC एड्रेस 6 बाइट का होता है अर्थात 48 बिट का एड्रेस होता है. जो 6 भाग में बंटा होता है. जिसे आप चित्र में देख सकते है.

what is mac address in hindi

दोस्तों मानलो एक रूम में तीन कंप्यूटर है. जो एक वाई फाई राऊटर से कनेक्ट है. और उन सभी कंप्यूटर में अलग -अलग वर्क हो रहा है. किसी में डाउनलोडिंग चल रही है. किसी में वेब सर्फिंग चल रही है. और किसी में ऑनलाइन वीडियो देखि जा रही है. दोस्तों हम जानते है इन्टरनेट पर डेटा पैकेट के रूप में ट्रान्सफर होता है. अब अगर कोई भी कंप्यूटर, सर्वर से डेटा पैकेट की Request करता है. तब राऊटर मैक एड्रेस के वजह से ही समझ जाता है की रिकवेस्ट किस कंप्यूटर ने की है या डेटा पैकेट किस कंप्यूटर को Redirect करना है.

MAC एड्रेस किसी भी डिवाइस जैसे कंप्यूटर, प्रिंटर या फोन के हार्डवेयर का Unique Identification Number होता है. मैक एड्रेस हेक्साडेसीमल फॉर्मेट में होता है. हेक्साडेसीमल फॉर्मेट अर्थात 0 से 9 और A से F तक के 16 अंक का कॉम्बिनेशन से बनता है. मैक एड्रेस में 2-2 कैरेक्टर  के 6 सेट्स होते है. प्रत्येक सेट्स कोलन द्वारा अलग किया जाता है.  ट्रेडिसनल मैक एड्रेस 12 डिजिट की यानि की 6 बाईट या 48 बिट्स का होता है. जो दो -दो के पेअर में होता है.

मैक एड्रेस को तीन फोर्मेट में लिखा जाता है. जो की आपको इमेज पर दिख रहा है.  मैक एड्रेस के पहले 6 डिजिट से डिवाइस मैनुफेक्चर को पहचानते है. जिसे ऑर्गनाइजली यूनिक आइडेंटिफायर कहा जाता है. बाकि के 6 डिजिट नेटवर्क इन्टरफेस कंट्रोलर को रिप्रेजेंट करते है.  जो मेनुफेचर द्वारा असाइन किया जाता है.

नेटवर्क डिवाइस में IP Address के बावजूद MAC Address क्यों जरुरी है?

IP Address का उपयोग इन्टरनेट से जुड़ने और कम्यूनिकेट करने के लिए किया जाता है. फिर हमें मैक एड्रेस की जरुरत क्यों पड़ती है? इसका जवाब यह है की मैक एड्रेस को NIC (Network Interface Card) को प्रोवाइड किया जाता है. जिससे डिवाइस या कंप्यूटर की पहचान किया जा सके.

जब हम इन्टरनेट में किसी वेबसाइट में विजिट करते है तो वेबसाइट अपने वेबपेज में उपस्थित डाटा हमारे आईपी एड्रेस में भेज देता है. आईपी और मैक एड्रेस दोनों OSI मॉडल के अलग-अलग लेयर में कार्य करते है. मैक एड्रेस डाटा लिंक लेयर पर कार्य करता है. जबकि आईपी एड्रेस नेटवर्क लेयर पर कार्य करता है.

इन्टरनेट में या विभिन्न नेटवर्क के बिच में डिवाइस को पहचान करने के लिए IP Address का उपयोग किया जाता है. जबकि मैक एड्रेस का उपयोग एक ही नेटवर्क के अन्दर डिवाइस के पहचान के लिए किया जाता है.

किसी भी लोकल एरिया नेटवर्क में मैक एड्रेस यूनिक क्यों होता है?

यदि किसी घर में एक ही नाम के दो व्यक्ति है. और आप किसी कार्य के लिए उन्हें आवाज दे रहे है. तो आप समझ सकते है. कौन सा व्यक्ति आपको जवाब देगा. दोनों व्यक्ति कंफ्यूज होंगे. जवाब किसे देना है. ऐसे में कार्य प्रभावित होगा.

 

इसी प्रकार यदि एक ही लोकल एरिया नेटवर्क में दो कंप्यूटर का मैक एड्रेस सामान होगा. तो इस स्थिति में कंप्यूटर आपस में कम्यूनिकेट नहीं कर पाएंगे. क्योकिं सेन्डर द्वारा भेजे गए डाटा के दो रिसीवर होंगे.

इस उदहारण को आप निचे दिए गए चित्र से समझ सकते है.

 

मैक एड्रेस क्या होता है? और कितने प्रकार, फॉर्मेट की पूरी जानकारी हिंदी में
MAC Address in Hindi

 

मैक एड्रेस के फॉर्मेट क्या है?

हमने उपर पढ़ा है की मैक एड्रेस को यूजर असाइन नहीं करता है जबकि मैक एड्रेस को NIC मैन्युफैक्चरर असाइन करता है. मैक एड्रेस का फॉर्मेट पहले से कॉन्फ़िगर होता है. आइये उनके बारें में जानते है.

MAC Address in Hindi

    1. मैक एड्रेस 6 बाइट का होता है. जिसमे 12 डिजिट होते है.
    2. मैक एड्रेस हेक्साडेसीमल फॉर्मेट में होता है अर्थात इसमें 0 से 9 और A से F तक उपयोग किया जाता है.
    3. मैक एड्रेस 6 ब्लाक में बटां होता है. प्रत्येक ब्लॉक कोलन (:) सिंबल से अलग होता है. प्रत्येक ब्लॉक 8 बिट अर्थात 1 बाइट का होता है.
    4. पहले 3 ब्लॉक का उपयोग ऑर्गनाइजली यूनिक आइडेंटिफायर (OUI) के लिए किया जाता है. और लास्ट के 3 ब्लॉक का उपयोग नेटवर्क इन्टरफेस कंट्रोलर (NIC) के लिए होता है.
    5. कुछ ऑर्गनाइजली यूनिक आइडेंटिफायर (OUI) के उदहारण

    3C:5A:B4 – Google, Inc.

    CC:46:D6 – Cisco

    3C:D9:2B – Hewlett Packard

    1. मैक एड्रेस के निम्न तिन फॉर्मेट में होते है.

MAC Address format in Hindi

मैक एड्रेस के कितने प्रकार है?

ईथरनेट नेटवर्क में अलग-अलग मैक एड्रेस का उपयोग unicast, multicast और broadcast communication में होता है. मैक एड्रेस के तिन प्रकार होते है जो निम्नलिखित है.

    1. Unicast MAC Address
    2. Multicast MAC Address
    3. Broadcast MAC Address

Unicast MAC Address in Hindi

Unicast मैक एड्रेस एक ऐसा यूनिक एड्रेस होता है. जिसका उपयोग एक डिवाइस से एक ही डेस्टिनेशन डिवाइस में डाटा फ्रेम को सेंड करने के लिए किया जाता है.

unicast MAC Address in hindi

 

Multicast MAC Address in Hindi

Multicast मैक एड्रेस एक ऐसा यूनिक एड्रेस होता है. जिसका उपयोग एक डिवाइस से नेटवर्क के किसी एक ग्रुप को डाटा फ्रेम को सेंड करने के लिए किया जाता है.

multicast MAC Address in hindi

Broadcast MAC Address in Hindi

Broadcast MAC Address एक ऐसा यूनिक एड्रेस होता है. जिसका उपयोग नेटवर्क के सभी होस्ट को डाटा फ्रेम को सेंड करने के लिए किया जाता है.

Broadcast MAC Address in hindi

 

किसी भी लैपटॉप या कंप्यूटर के मैक एड्रेस को कैसे ढूंढे?

जितने भी नेटवर्क डिवाइस होते है. उन सभी में मैक एड्रेस रहता ही है. जैसे लैपटॉप, डेस्कटॉप या फिर कोई भी नेटवर्क डिवाइस हो उन सभी में मैक एड्रेस रहता ही है. आपके पास जो भी नेटवर्क डिवाइस है. आप निचे बताये गए तरीके से उनके मैक एड्रेस को पता कर सकते है.

विंडोज कंप्यूटर (लैपटॉप / डेस्कटॉप) में मैक एड्रेस को पता करना

यदि आपके पास विंडोज कंप्यूटर है चाहे वह लैपटॉप हो या डेस्कटॉप. उसमे विंडोज के कोई भी वर्शन हो आप इस तरीके से उसके मैक एड्रेस को पता लगा सकते है.

  1. सबसे पहले आपको command prompt को open करना है. कमांड प्रांप्ट को ओपन करने के लिए run (windows button +r) में cmd कमांड टाइप करके इंटर बटन दबाना है.मैक एड्रेस क्या होता है?
  2. इसके बाद कमांड प्रांप्ट में ipconfig/all लिखकर इंटर बटन दबाना है.मैक एड्रेस क्या है 2
  3. इसके पश्चात आपके सामने कंप्यूटर स्क्रीन खुल जायेगा. जिसमे कंप्यूटर में कनेक्टेड सभी नेटवर्क डिवाइस जैसे LAN कार्ड, WIFI के मैक एड्रेस दिखाई देंगे. मैक एड्रेस को ही फिजिकल एड्रेस कहा जाता है. जिसे आप निचे स्क्रीन शॉट में देख सकते है.

मैक-एड्रेस-क्या-है-

 

एंड्राइड डिवाइस (मोबाइल फ़ोन) में मैक एड्रेस को कैसे पता करें?

यदि आपके पास एंड्राइड डिवाइस है चाहे वह मोबाइल फ़ोन हो या टेबलेट. उसमे एंड्राइड के कोई भी वर्शन हो आप इस तरीके से उसके मैक एड्रेस/फिजिकल एड्रेस  को पता लगा सकते है.

      1. सबसे पहले आप अपने मोबाइल की सेटिंग (Setting) आप्शन पर जायें.

    how to check mac address in mobile

      1. मोबाइल सेटिंग में जाने के बाद About Phone आप्शन पर जायें.

    how to check mac address in mobile phone

      1. अबाउट फ़ोन आप्शन में जाने के बाद Status पर क्लिक करें.

    how to check mac address in smart phone

      1. अब आपको Wi-Fi MAC address के निचे मोबाइल का मैक एड्रेस लिखा हुआ मिल जायेगा.

    how to check mac address in android mobile

यदि आपको इस तरीके से अपने फ़ोन का मैक एड्रेस नहीं दिखता है तो मोबाइल के Wi-Fi Setting में जाकर मैक एड्रेस को देख सकते हो.

    1. सबसे पहले आप अपने मोबाइल की सेटिंग (Setting) आप्शन पर जायें.
    2. मोबाइल सेटिंग में जाने के बाद Wi-Fi आप्शन पर जायें.
    3. Wi-Fi आप्शन में जाने के बाद Advanced Setting पर क्लिक करें.
    4. अब आपको मोबाइल का मैक एड्रेस लिखा हुआ मिल जायेगा.

दोस्तों आप इन तरीको को अपनाकर मोबाइल और कंप्यूटर में मैक एड्रेस का पता असानी से लगा सकते है.

IP Address और MAC Address में क्या अंतर है?

जैसे की हमने उपर पढ़ा. IP Address और मैक एड्रेस का उपयोग नेटवर्क में डिवाइस की पहचान करने के लिए किया जाता है. IP Address विभिन्न नेटवर्क के बिच में डिवाइस की पहचान के लिए किया जाता है जबकि मैक एड्रेस का उपयोग एक ही नेटवर्क के अन्दर उपस्थित डिवाइस को पहचान करने के लिए किया जाता है.

 

 

SN MAC Address IP Address
1 MAC का तात्पर्य Media Access Control होता है. IP का तात्पर्य Internet Protocol होता है.
2 यह एक यूनिक एड्रेस है जिसे नेटवर्क डिवाइस के मैन्युफैक्चरर प्रोवाइड करते है. यह एक लॉजिकल एड्रेस होता है. जिसे ISP (Internet Service Provider) प्रोवाइड करता है.
3 यह 6 बाइट का एड्रेस होता है. जिसे हेक्साडेसीमल फॉर्मेट में लिखा जाता है. IPv4 एड्रेस 4 बाइट का होता है. IPv6 एड्रेस 8 बाइट का होता है. जिसे डेसीमल फॉर्मेट में लिखा जाता है.
4 यह डिवाइस में उपस्थित NIC का फिजिकल एड्रेस होता है. जिसके माध्यम से डिवाइस को नेटवर्क के अन्दर पहचाना जाता है. यह एक लॉजिकल एड्रेस होता है. जिसके माध्यम से डिवाइस को इन्टरनेट/ नेटवर्क में पहचाना जाता है.

सीमेंट ईट का बिजनेस कैसे शुरू करें? सीमेंट ईट बनाने की मशीन, कीमत और कमाई की जानकारी।
deference between mac address and ip address in hindi

तो दोस्तों उम्मींद करता हु यह लेख मैक एड्रेस क्या होता है? ( What is MAC Address in hindi) आपको बहुत पसंद आया होगा। अगर आपको यह लेख ( MAC Address kya hai ) पसंद आया हो तो लाइक करें। लोगो को शेयर करें।

अब दोस्तों यदि कोई ये मैक एड्रेस क्या होता है? (What is MAC Address in hindi) से जुड़े तथ्यों की चर्चा करता है मैक एड्रेस क्या है? (What is MAC Address in hindi) तो आप आसानी से जवाब दे पाएंगे। दोस्तों कोई सवाल आप पूछना चाहते है तो निचे Comment Box में जरुर लिखे और अगर आपके को सुझाव है तो जरुर दीजियेगा। दोस्तों हमारे अन्य वेबसाइट https://www.nayabusiness.in एवं Youtube चैनल computervidya को अगर आप अभी तक सब्सक्राइब नहीं किये तो तो जरुर सब्सक्राइब कर लेवें।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

error: Content is protected !!