वाई-फ़ाई क्या है और कैसे काम करता है? (हिंदी नोट्स) – What is Wi-Fi in Hindi

क्या आप सभी को पता है वाई-फ़ाई क्या है? (What is Wi-Fi in Hindi) और वाई-फ़ाई कैसे काम करता है? आप सभी लोगों ने इंटरनेट का उपयोग तो जरूर किए होंगे। सभी लोगों ने वाईफाई का नाम जरूर सुना होगा। इसका उपयोग भी किया होगा।

आपके मन में यह सवाल जरूर आया होगा कि वाईफाई क्या होता है?, यह कैसे काम करता है?, इसकी दूरी कितनी होती है?, इसका निर्माण किसने और कब किया है?, तो दोस्तो आज के इस आर्टिकल (What is Wi-Fi in Hindi) में हम आपके सारे सवालों का जवाब देंगे। हम वाईफाई के बारे में डिटेल से जानेंगे तो आइए शुरू करते हैं।

वाई-फ़ाई क्या है? (What is Wi-Fi in Hindi)

वाई फाई का पूरा नाम “Wireless Fidelity” है। वाईफाई वायरलेस लोकल एरिया नेटवर्क होता है। यह रेडियो तरंगों द्वारा चलता है। जैसे मोबाइल के नेटवर्क  को उपयोग करने के लिए कंप्यूटर में वायरलेस एडाप्टर लगाया जाता है। यह हमारे मोबाइल से आ रहे वाई फाई के सिग्नल को decode करता है।

What is Wi-Fi in Hindi

Wi-Fi का उपयोग मोबाइल, लैपटॉप, टेबलेट, कंप्यूटर आदि उपकरण में इंटरनेट चलाने के लिए किया जाता है। आप अपने किसी भी कंप्यूटर में वाई फाई को जोड़कर इंटरनेट चला सकते हैं। बहुत से लोगों के मन में यह सवाल होता है कि वाईफाई को हिंदी में क्या कहते हैं तो वाईफाई को हिंदी में “वायरलेस स्थानीय क्षेत्र तंत्र” कहा जाता है।

वाई-फ़ाई का इतिहास (History of Wi-Fi)

सन 1997 में वाईफाई तकनीक को लोगों के सामने लाया गया। लेकिन वाईफाई का आविष्कार बहुत पहले हो चुका था। इसको बनाने का श्रेय किसी एक व्यक्ति को नहीं बहुत से लोगों को जाता है। सन 1971 से लेकर 1991 तक वाईफाई तकनीक को और अधिक विकसित किया। ऑस्ट्रेलिया के वैज्ञानिक John O’Sullivan और उनकी पूरी टीम ने वाईफाई को और अधिक विकसित किया।

साल 1999 में एक संस्था जो nonprofit organization Wi-Fi एलायंस ने एक ट्रेड एसोसिएशन का गठन किया था। यह Wi-Fi टेक्नोलॉजी को प्रमोट करती है। 2009 में Wi-Fi का वर्जन आया जिसे 802.11n कहा गया। यह अधिक बेहतर और fast थी। लेकिन इसमें ओवरक्राउडेड की समस्या थी। आज करीब हर जगह Wi-Fi कनेक्टिविटी की सुविधा है। बहुत से पब्लिक जगह, रेलवे स्टेशन पर आपको हॉटस्पॉट की सुविधा मिल जाती है। इस क्षेत्र में लगातार वाईफाई का विस्तार हो रहा है .

वाई-फ़ाई के संस्करण (Version)

वाईफाई के सभी संस्करणों कोड नेम के साथ एक नाम भी दिया जाता है जैसे 802.11a को Wi-Fi 1 और 802.11b को Wi-Fi 2 कहते हैं। नीचे वाईफाई की प्रमुख संस्करण दिए गए हैं.

  1. Wi-Fi 1: 802.11a (1999)
  2. Wi-Fi 2: 802.11b (1999)
  3. Wi-Fi 3: 802.11g (2003)
  4. Wi-Fi 4: 802.11n (2009)
  5. Wi-Fi 5: 802.11ac (2014)
  6. Wi-Fi 6:802.11ax (2019)

802.11a

इसे IEEE ने 1999 में बनाया था। इसे व्यावसायिक, ओद्योगिक तथा ऑफिस use के लिए बनाया गया था। यह 5 GHz की frequency पर कार्य करता था। इसकी Speed 54 Mbps थी. इसकी Range 115 फीट तक थी. तथा यह बहुत Costly था। यह data लिंक लेयर protocol का उपयोग करता है।

802.11a वायरलेस Technique की श्रृंखला में से एक है। यह Wi-Fi नेटवर्किंग राउटर और antenna द्वारा भेजे गए radio signal के रूप तथा संरचना को प्रभावित करता है।

802.11b

इसे भी 1999 में बनाया गया था। 802.11a तथा 802.11b दोनों standards को IEEE ने एक साथ बनाया था. इस Wi-Fi को घर तथा घरेलू प्रयोग के लिए बनाया गया था.

यह 5 GHz की frequency पर कार्य करता है। इसकी स्पीड 11 Mbps तक है. इसकी Range 115 फीट तक थी। Wi-Fi 802.11a की तुलना में यह कम फ्रीक्वेंसी है। इसका मतलब यह है कि यह उचित दूरी पर Work करता है और इसकी लागत 802.11a की अपेक्षा कम होती है.

802.11g

इसे 2003 में बनाया गया था। इसको IEEE ने 802.11a तथा 802.11b के कॉम्बिनेशन से बनाया. यह 2.4 GHz की frequency पर कार्य करता है।

इसकी स्पीड 54 Mbps तक है. इसकी Range 125 फीट तक है. 802.11g  का hardware 802.11b के साथ पूरी तरह से एक जैसा है। 802.11g की सबसे बड़ी विशेषता गति है इसलिए user इसे तेजी से अपना रहे हैं.

Wi-Fi 802.11n

इसे 2009 में बनाया गया. वैसे Theoretical रूप से कहें तो इसकी स्पीड 500 एमबीपीएस तक है. तथा इसकी Range 230 फीट तक है. 802.11n नई Wi-Fi तकनीक है।

इसे 802.11g पर सुधार करने के लिए Design किया गया था। इसे 2009 में dual band राउटर की 2.4 GHz और 5 GHz दोनों frequency पर काम करने के लिए बनाया गया था.

802.11ac

इसे 2013 में बनाया गया था।हम इसे wifi का 5th generation भी बोल सकते है. इसकी स्पीड  802.11n से लगभग तीन गुना अधिक है।

यह 5 GHz की frequency पर कार्य करता है। इसकी Range 115 फीट है. आजकल ज्यादातर सभी Device इसी Wi-Fi का प्रयोग करते है. लेकिन अभी भी कुछ Device मे 802.11n का भी प्रयोग कर रहे है.

Wi-Fi 802. 11ax

802.11ax इसे “वाईफाई 6” भी कहा जाता है Wi-Fi 6 वायरलेस तकनीकी में अगली पीढ़ी का मानक है। यह अन्य वाईफाई की तुलना में अब तक की सबसे तेज गति से Work करने वाली Wi-Fi हैं।

इसकी अधिकतम स्पीड 10 जीबीपीएस तक की हैं। और यह 2.4 GHz और 5 GHz modem को support करता हैं। Wi-Fi 6 को 2019 में release किया गया था।

Wi-Fi कैसे काम करता है।

Wi-Fi टेक्नोलॉजी में एक ऐसी device लगी होती है। जो वायरलेस signal को ट्रान्समेंट करती है जो की Wi-Fi router या हॉटस्पॉट होता है. इसमें वायरलेस राउटर किसी इंटरनेट से जुड़कर सुचना को radio तरगों में बदल देती है। Wi-Fi device वातावरण में मौजूद Wi-Fi संकेतो से connect होकर अपने आस पास एक छोटा सा वायरलेस सिग्नल का Area बनाता है। जिसे Wi-Fi zone कहते है।

ये छोटा सा एरिया एक wireless local area का रूप लेता है। इससे छोड़ी गई तरंगो के Area में जितने भी Device होते है जैसे फोन, लैपटॉप जो इंटरनेट चला सके, वह सभी इसका Signal पकड़ते है। डैस्कटॉप कंप्यूटर में In Built Wi -Fi adapter नहीं होता है। इसलिए हम इसे यूएसबी कोड के माध्य्म से adapter लगाकर WI -Fi का इस्तमाल कर सकते है।

Wi-Fi की विशेषताएं

Wi-Fi का बहुत अधिक उपयोग उसके विशेषताएँ के कारण हो रहा है. आइये उनके बारें में चर्चा करते है.

  • Efficiency
  • Speed
  • Cost
  • No Limit
  • Multiple Devices
  • Easy to Use

Efficiency

हम अपने मोबाइल में इंटरनेट का उपयोग करने के लिए Cellular नेटवर्क का इस्तेमाल करते हैं। लेकिन जब आप चलते ट्रेन बस गाड़ी में Cellular नेटवर्क का उपयोग करते हैं तो बार-बार नेटवर्क कटते जाते हैं और जुड़ते जाते हैं। इससे मोबाइल की एनर्जी यानी की बैटरी जल्दी खत्म होती है।

लेकिन वाईफाई मे ऐसा नहीं होता क्योंकि वाईफाई इंटरनेट के लिए रेडियो वेव का इस्तेमाल करता है इसके लिए आपको राउटर की जरूरत होगी।

Speed

मोबाइल Network की तुलना में Wi-Fi नेटवर्क की Speed काफी ज्यादा होती है। उदाहरण के लिए, अगर आप Wi-Fi के साथ Live Streaming कर रहे हैं तो आपको 1mbps से 100mbps तक की Speed मिलती है, जबकि मोबाइल में सिर्फ Loading ही चलता रहता है।

Cost

मोबाइल Data के मुकाबले Wi-Fi Price बहुत कम होता है। कम कीमत की वजह से ही घर, Office के लिए लोग Wi-Fi कनेक्शन का उपयोग करते हैं। वरना मोबाइल Data को अगर Wi-Fi के जितना उपयोग किया जाए तो आपका bill 50 गुना ज्यादा होगा।

No Limit

मोबाइल डाटा की एक लिमिट होती है। जैसे कि पर डे 1GB, 1.5 GB आदि लेकिन वाईफाई नेटवर्क में कोई लिमिट नहीं होती। लगभग आपको 50GB से ज्यादा डाटा मिलता है। मतलब आप जितना चाहे उतना इंटरनेट का इस्तेमाल कर सकते हैं ।

Multiple Devices

वाईफाई नेटवर्क में एक साथ अनेक डिवाइस को जोड़ सकते हैं । अनेक मोबाइल और कंप्यूटर को एक साथ वाईफाई में जोड़कर आप इंटरनेट आसानी से चला सकते हैं।

Easy to Use

वाईफाई का इस्तेमाल करना बहुत ही आसान होता है आप अपने डिवाइस में वाईफाई को ऑन कर लीजिए और उसमें पासवर्ड इंटर कर दीजिए फिर वाईफाई का आप उपयोग कर सकते हैं ।

Wi-Fi का उपयोग

आज के समय में वाईफाई का उपयोग लगभग सभी क्षेत्रों में किया जाता है। जैसे कि लैपटॉप, स्मार्टफोन, कंप्यूटर आदि डिवाइस को वाईफाई से कनेक्ट करके इंटरनेट चलाया जाता है।

भारत में रेलवे स्टेशन, एयरपोर्ट आदि सार्वजनिक सरकारी क्षेत्रों में वाईफाई का उपयोग बड़ी मात्रा में किया जाता है। शिक्षा का ऑनलाइन होने के कारण घर, स्कूल-कॉलेज आदि स्थानों पर वाईफाई की भूमिका बहुत ही महत्वपूर्ण है। ऑफिस में वाईफाई का उपयोग सभी डिवाइस को आपस में कनेक्ट करने के लिए किया जाता है।

Wi-Fi Advantage

  • Wi-Fi को आप से Smartphone, Tablet, Laptop को आसानी से कनेक्ट कर सकते है।
  • सेल्युलर नेटवर्क की तुलना में Wi-Fi की Speed काफी तेज़ होती है।
  • Wi-Fi को इस्तेमाल करना बहुत आसान है आपको केवल Wi-Fi ऑन करना है और पासवर्ड enter करना है, वाईफाई connect हो जाएगा।
  • वाईफाई सेवा में हर रोज़ लगभग 50GB से ज्यादा data मिलता है।मतलब आप Unlimited भी कह सकते है जिससे आप जितना चाहे उतना data का Use कर सकते है।
  • पहले के समय में हर जगह वाईफाई मिलना मुश्किल था लेकिन आज के समय में ट्रेन, कॉफी शॉप, रेलवे स्टेशन, सुपर मार्केट हर जगह Wi-Fi सेवा उपलब्ध है।
  • आप अपने Wi-Fi router को दुनिया के किसी भी देश में चला सकते हैं। मतलब आप Wi-Fi router का इस्तेमाल कहीं भी कर सकते हैं।
  • मोबाइल नेटवर्क की तुलना में Wi-Fi की इंटरनेट Speed बहुत ज्यादा होती है, आप 1 Mbps से लेकर 100 Mbps तक का लाभ उठा सकते हैं।

Wi-Fi Disadvantage

  • Wi-Fi केबल connection के साथ तो बहुत अच्छी इंटरनेट की Speed प्रदान करता है। लेकिन hotspot Wi-Fi शहर लोकेशन पर अच्छी Speed नहीं मिलती है।
  • ये wireless होने की वजह से इसमें आपको फुल सिक्योरिटी देना मुश्किल है।
  • Mobile connection की तुलना में Wi-Fi नेटवर्क की Security बहुत कमजोर होती है, इसे आसानी से छोटा सा hacker access कर सकता है।
  • जब एक ही Wi-Fi नेटवर्क एक साथ बहुत से Device से connect हो जाता है तब इसका Speed धीमा हो जाता है |
  • Wi-Fi की Range ज्यादा नहीं होती है जिससे आप ज्यादा दूर जाने पर ये disconnect हो जाता है।
  • आप एक फिक्स्ड लोकेशन और Area मैं ही इसका उपयोग कर सकते हो। अगर आप दीवार के दूसरी तरफ उसका इस्तेमाल करोगे तो इसकी Speed बहुत कम हो जाती है।

Wi-Fi का आविष्कार

John O’ Sullivan ने वाईफाई का आविष्कार 1991 में किया था. John O’ Sullivan उस समय एक कंपनी में नौकरी करते थे जिसका नाम CSIRO था। John O’ Sullivan और उसके पूरी टीम ने मिलकर ही वाईफाई का आविष्कार किया था।

John O’ Sullivan ने उसमें कुछ इंपॉर्टेंट बदलाव करके वाईफाई की स्पीड को और अत्यधिक बढ़ा दिया और सिग्नल को और भी अधिक बेहतर बना दिया। इस कारण इसे वाईफाई नेटवर्क का अविष्कारक कहा जाता है।

Wi-Fi की रेंज

घर या offices में लगाए जाने वाले आम Wi-Fi router की रेंज लगभग 20 से 30 meter तक की होती है। इस Range का पूरा Output भी तब मिल पाता है.

wifi kya hai

जब Wi-Fi खुले हुवे Area में लगा हो। लेकिन घर या Office के भीतर हर प्रकार से छोटा- बड़ा सामान मौजूद होता है जैसे की कमरे की दीवारें, दरवाजे,फर्नीचर या दूसरे electronic उपकरण इत्यादि। तो यह सब Wi-Fi signal के रेंज को काफी प्रभावित करते हैं। जिससे Wi-Fi Signal मैं रुकावट होती है। उनकी Range कम हो जाती है.

Wi-Fi Router क्या हैं?

Wi-Fi Router एक “नेटवर्किंग डिवाइस” है जिसका इस्तेमाल दो या दो से अधिक computer network के बीच डाटा को transfer करने के लिए किया जाता है।

वाई-फ़ाई क्या है और कैसे काम करता है? (हिंदी नोट्स) - What is Wi-Fi in Hindi

दूसरे शब्दों में, “Wi-Fi router एक इंटरनेटवर्क device है जिसका प्रयोग computer नेटवर्कों के मध्य data को सेंड तथा रिसीव करने के लिए किया जाता है। Wi-Fi राउटर एक ऐसा नेटवर्क डिवाइस है इसका प्रयोग यूजर के द्वारा Internet को एक्सेस करने के लिए किया जाता है।

Wi-Fi का Full form क्या है?

Wi-Fi का पूरा नाम “Wireless Fidelity” होता है, जिसे हिंदी में वायरलेस फिडेलिटी कहा जाता है, जो रेडियो तरंगों की मदद से Network और Internet तक पहुंचने के लिए एक उपकरण होता है. और यह Wi-Fi एक्सेस प्वाइंट के आसपास mobile phone को वायरलेस Internet प्रदान करने का काम करता है.

Wi-Fi 6 क्या है?

Wi-Fi 6 अगली पीढ़ी का मानक है. Wi-Fi 6 को और ज्यादा इंप्रूव कर build किया गया है. Wi – Fi 6 को आज के Time की सबसे तेज Wi-Fi कहना गलत नहीं होगा.

अगर आप लोगों को Wi-Fi की नयी तकनीक Wi-Fi 6 विषय में जानकारी नहीं है तब आप लोगों को बता दूँ की wireless तकनीक की World में यह एक  बहुत बड़ा क्रांति लाने वाला है.

Wi-Fi की कीमत और बेस्ट कंपनी के Wi-Fi

अब हम जानते हैं वाईफाई राउटर की कीमत क्या वैसे देखा जाए तो एक अच्छे वाईफाई राउटर की कीमत 1500 से शुरू होकर 10,000 तक या फिर उससे भी अधिक तक जाती है यह उसके क्वालिटी पर निर्भर करता है नीचे मैं आपको बेस्ट  कंपनी के वाईफाई राउटर की तथा उसके प्राइस के बारे में भी जानकारी दे रहा हूं।

  • TP-Link Archer C6 Router: Price – 2499 (Approx.)
  • TP-Link TL-WR940N Router: Price – 1279 (Approx.)
  • TP-Link Archer C7 AC1750  Router: Price – 3909 (Approx.)
  • Tenda AC10 Router: Price – 2699 (Approx.)
  • TENDA AC15 AC1900 Router: Price – 4999 (Approx.)
  • TP-Link TL-MR3620: Price – 1299 (Approx.)
  • ASUS RT-AX88U AX6000 Router: Price – 27590 (Approx.)
  • NETGEAR Nighthawk AC1900 Router: Price – 27999 (Approx.)
  • D-Link DIR-615 Router: Price – 1099 (Approx.)
  • TP-Link TL-MR6400 Router: Price – 4499 (Approx.)

सबसे अच्छा Wi-Fi कौन सा है?

2.5 गीगाहर्ट्ज़ स्टैंडर्ड Wi-Fi router की तुलना में 5 गीगाहर्ट्ज़ स्टैंडर्ड Wi-Fi router नेटवर्क बेहतर हो जाता है, लेकिन इसकी cost भी ज्यादा होती है. यदि नेटवर्क व्यवधान मुख्य समस्या नहीं है, तो 2.5GHz Wi-Fi router चुनें.

FAQ

Wi-Fi 6 क्या है?

Wi-Fi 6 अगली पीढ़ी का मानक है. Wi-Fi 6 को और ज्यादा इंप्रूव कर build किया गया है. Wi – Fi 6 को आज के Time की सबसे तेज Wi-Fi कहना गलत नहीं होगा.

Wi-Fi का पूरा नाम क्या होता है?

Wi-Fi का पूरा नाम “Wireless Fidelity” होता है, जिसे हिंदी में वायरलेस फिडेलिटी कहा जाता है, जो रेडियो तरंगों की मदद से Network और Internet तक पहुंचने के लिए एक उपकरण होता है.

Wi-Fi की रेंज कितनी होती है?

घर या offices में लगाए जाने वाले आम Wi-Fi router की रेंज लगभग 20 से 30 meter तक की होती है। इस Range का पूरा Output भी तब मिल पाता है.

वाई-फाई के अविष्कारक कौन है?

John O’ Sullivan ने वाईफाई का आविष्कार 1991 में किया था. John O’ Sullivan उस समय एक कंपनी में नौकरी करते थे

वाईफाई कितने प्रकार का होता है?

वाईफाई 6 प्रकार के होते है जो निम्न लिखित है.
Wi-Fi 1: 802.11a
Wi-Fi 2: 802.11b
Wi-Fi 3: 802.11g

Wi-Fi 4: 802.11n
Wi-Fi 5: 802.11ac
Wi-Fi 6:802.11ax

आज आपने सिखा

इस आर्टिकल के माध्यम से मैंने वाई-फ़ाई क्या है और कैसे काम करता है? (हिंदी नोट्स) – What is Wi-Fi in Hindi से जुड़ी हर एक जानकारी को आपके साथ साझा करने का प्रयास किया हूं। और मुझे आशा है कि आपने वाईफाई नेटवर्क के बारे में अच्छे से जान लीया होगा। हम वाईफाई का उपयोग इंटरनेट को आपस में एक दूसरे कंप्यूटर में जोड़ने के लिए करते हैं।

अच्छी स्पीड के साथ इंटरनेट का यूज कर पाते हैं। वाईफाई को ऑन करना उसमे पासवर्ड लगाकर यूज करना काफी ही आसान होता है। आपको हमारे द्वारा लिखा गया यह आर्टिकल (What is Wi-Fi in Hindi) पसंद आया होगा तो इसे अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया में शेयर करें ताकि दूसरे लोग भी इस इंफॉर्मेशन पा सके।

यदि यह पोस्ट (What is Wi-Fi in Hindi) आपको अच्छा लगा हो तो अपने दोस्तों को फेसबुक, Whatsapp और इन्स्ताग्राम इत्यादि में शेयर जरुर करें. इसी प्रकार के नए-नए टेक्नोलॉजी और बिजनेस स्टार्टअप की जानकारी के लिए आप मेरे YouTube चैनल computervidya और मेरा वेबसाइट nayabusiness.in में विजिट जरुर करें.

Related Post

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

हमारे साथ जुड़े

537FansLike
406FollowersFollow
818,000SubscribersSubscribe

पॉपुलर पोस्ट्स

error: Content is protected !!