What is compiler in hindi? कम्पाइलर क्या है?

दोस्तों! आज हम कम्पाइलर क्या है? (What is compiler in hindi) के बारे में बात करेंगे। जिसमें कम्पाइलर के कार्य (compiler work hindi) के साथ-साथ कम्पाइलर के विशेषताएं (advantage) और कम्पाइलर की कमियाँ (disadvantage) को समझायेंगे। साथ ही इस लेख में हम कम्पाइलर से जुड़े विभिन्न पहलु को जैसे Interpreter एवम् assembler के बारें में बताऊंगा।

कम्पाइलर क्या है What is Compiler in Hindi

Compiler एक computer program है जो ट्रांसलेटर का कार्य करता है। दुसरे शब्दों में कहे तो कम्पाइलर एक प्रकार का ट्रांसलेटर है तो हाई लेवल लैंग्वेज (High level Language) को निम्न लेवल लैंग्वेज (low level language) में ट्रांसलेट करता है।

explain compiler in hindi

Compiler एक कंप्यूटर प्रोग्राम है जो हाई लेवल लैंग्वेज (C/C++/java etc.) में लिखे गए प्रोग्राम को लो लेवल लैंग्वेज (object/target/machine) में कन्वर्ट करता है।

उदाहरण :- मान लीजिये आप हिंदी बोलते हो, आपको इंग्लिश नहीं आता है. ऐसे में यदि सामने वाला केवल इंग्लिश बोलता और समझता है। तो आपको उनसे बात करने के लिए एक ट्रांसलेटर की जरुरत पड़ेगी जिनके हेल्प से आप सामने वाले से बात कर पाएंगे।

इसी प्रकार कंप्यूटर केवल मशीन भाषा को समझता है उसे केवल 0 और 1 की भाषा समझ आता है। लेकिन प्रोग्रामर या यूजर को केवल इंग्लिश या हिंदी समझ आता है। ऐसे में कंप्यूटर और प्रोग्रामर के बिच कम्युनिकेशन के लिए ट्रांसलेटर की जरुरत पड़ती है। जिसे कम्पाइलर कहा जाता है। मशीन लैंग्वेज को हो लो लेवल लैंग्वेज कहा जाता है।

कम्पाइलर कैसे कार्य करता है?

Compiler एक कंप्यूटर प्रोग्राम है जो हाई लेवल लैंग्वेज (C/C++/java etc.) में लिखे गए प्रोग्राम को लो लेवल लैंग्वेज (object/target/machine) में कन्वर्ट करता है। अर्थात कम्पाइलर यूजर/प्रोग्रामर और कंप्यूटर के बिच में इंटरफ़ेस का कार्य करता है। प्रोग्रामर जब किसी भी हाई लैंग्वेज जैसे C/C++/Java इत्यादि में प्रोग्राम लिखता है। और उसे execute करता है तो सबसे पहले वह कम्पाइलर के पास जाता है। उसके बाद कम्पाइलर उस source code को object code में बदलकर कंप्यूटर को देता है। यदि सोर्स कोड में कोई एरर होता हो तो उसे डिस्प्ले करता है। कम्पाइलर एक बार में पुरे प्रोग्राम को एक साथ ट्रांसलेट करता है। जबकि इंटरप्रेटर और असेम्बलर लाइन बाय लाइन ट्रांसलेट करता है।

what is compiler in hindi

कम्पाइलर की विशेषताएं (Advantage)

    1. compiler पुरे प्रोग्राम को एक साथ स्कैन करके मशीन कोड में ट्रांसलेट करता है। जिसे इंटरप्रेटर एक-एक लाइन करके करता है।
    2. इंटरप्रेटर और असेम्बलर की तुलना में कम्पाइलर तेज ट्रांसलेट करता है।
    3. विभिन्न हाई लेवल लैंग्वेज जसी c, c++ और java में कम्पाइलर का उपयोग होता है।

कम्पाइलर की कमियाँ (Disadvantage)

    1. compiler पुरे प्रोग्राम को scan करने के बाद ही लास्ट में error message देता है। जिसके कारन प्रोग्राम को debug करना थोडा कठिन हो जाता है।
    2. कम्पाइलर object code जेनरेट करता है जिसके कारण अधिक मेमोरी की जरुरत पड़ती है।
    3. पुरे प्रोग्राम के execution time को देखा जाये तो यह थोडा slow होता है।

तो दोस्तों उम्मींद करता हु यह लेख कम्पाइलर क्या है ( What is compiler in hindi) आपको बहुत पसंद आया होगा। अगर आपको यह लेख ( compiler kya hai ) पसंद आया हो तो लाइक करें। लोगो को शेयर करें।

अब दोस्तों यदि कोई ये कम्पाइलर क्या है ? compiler in hindi से जुड़े तथ्यों की चर्चा करता है कम्पाइलर क्या है? (compiler kya hai) तो आप आसानी से जवाब दे पाएंगे। दोस्तों कोई सवाल आप पूछना चाहते है तो निचे Comment Box में जरुर लिखे और अगर आपके को सुझाव है तो जरुर दीजियेगा। दोस्तों हमारे अन्य वेबसाइट https://www.nayabusiness.in एवं Youtube चैनल computervidya को अगर आप अभी तक सब्सक्राइब नहीं किये तो तो जरुर सब्सक्राइब कर लेवें।

Related Post

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

हमारे साथ जुड़े

537FansLike
406FollowersFollow
561,000SubscribersSubscribe

पॉपुलर पोस्ट्स