एंटीवायरस क्या है? 10 बेस्ट एंटीवायरस कौन से है? – What is Antivirus in Hindi

दोस्तो अगर आपने कंप्यूटर चलाया होगा तो एंटीवायरस का नाम तो सुना ही होगा। जिसका निर्माण कंप्यूटर system में मौजूद data को सुरक्षा प्रदान करने के लिए किया जाता हैं। यह वायरस को कंप्यूटर में आने से रोकता हैंl इसके माध्यम से हम अपने कंप्यूटर की digital सुरक्षा कर सकते हैं। दोस्तो अगर आपको एंटी वायरस के बारे में जानना है तो इस लेख को शुरू से अंत तक जरूर पढ़ें तो चलिए शुरू करते हैं।

एंटीवायरस क्या है? (What is Antivirus in Hindi)

दोस्तों antivirus को समझने से पूर्व आपके लिए virus को समझना जरूरी है। सरल शब्दों में समझें तो virus में instruction होते हैं। जिसका कार्य कंप्यूटर की कार्यप्रणाली को रोकना होता है तथा कंप्यूटर में सेव की गई सारी इंफॉर्मेशन को नष्ट करना होता है। दोस्तों आप समझ गए होंगे virus आने से computer पर क्या प्रभाव पड़ता है।

what is antivirus in hindi

Antivirus एक सॉफ्टवेयर या प्रोग्राम होता है। इसका उपयोग कंप्यूटर में virus का पता लगाने तथा वायरस को delete करने के लिए किया जाता है। इसलिए कंप्यूटर में एंटीवायरस का install होना बेहद आवश्यक है। बिना antivirus के इंटरनेट का इस्तेमाल करने पर आपका computer कुछ ही मिनटों में वायरस से संक्रमित हो सकता है। रोजाना 60,000 से अधिक मैलवेयर निर्मित होते हैं। कंप्यूटर को इन malware से बचाने के लिए डिटेक्शन टूल्स को अपडेट करना अत्यंत आवश्यक होता है।

एंटीवायरस के कार्य (Work)

एंटीवायरस एक प्रोग्राम या सॉफ्टवेयर होता है। जिसके डेटाबेस में कंप्यूटर Virus की जानकारी दी जाती है।  एंटीवायरस के डेटाबेस में लगभग सभी प्रकार के कंप्यूटर वायरस की छाप होती है।

  • रीपर पहला एंटीवायरस है। जिसे Ray टॉमलिंसन द्वारा पहला कंप्यूटर वायरस क्रीपर को हटाने के लिए बनाया गया था।
  • एंटीवायरस को कंप्यूटर वायरस को हटाने के लिए बनाया गया था। आमतौर पर एंटीवायरस का काम कंप्यूटर को वायरस से सुरक्षित रखना है।
  • अगर कभी कंप्यूटर सिस्टम में वायरस आ जाता है।  तब एंटीवायरस कंप्यूटर सिस्टम को स्कैन करता है।  अगर इसके डेटाबेस से मिलता जुलता कोई फाइल या प्रोग्राम मिलता है।  तब उसे कंप्यूटर वायरस मानकर उपयोगकर्ता को सूचित करता है और उसे नष्ट भी कर देता है।
  • अगर कंप्यूटर सिस्टम में कोई नया वायरस नहीं है। तब ऐसे में वायरस का छाप उस एंटीवायरस के डेटाबेस में नहीं होता है।  इसलिए एंटीवायरस उस वायरस को पहचान नहीं पाता है और ना ही नष्ट कर सकता है।  इस तरह की स्थिति में एंटीवायरस भी कुछ नहीं कर सकता।
  • लेकिन जब भी कभी मार्केट में नए तरह का वायरस पता चलता है। तब अच्छे एंटीवायरस के कंपनी भी अपने एंटीवायरस के डेटाबेस में अपडेट कर देते हैं।  इस तरह एक नया वायरस भी एंटीवायरस डिटेक्ट कर लेता है। इसलिए कहा जाता है कि हमेशा अच्छी कंपनी का अपडेटेड एंटीवायरस ही इस्तेमाल करना चाहिए।

एंटीवायरस का इतिहास (History)

आज से 70 वर्ष पूर्व पहले computer virus का जन्म हुआ। पहला कप्यूटर वायरस creeper virus के नाम से जाना गया उस समय mainframe computer प्रचलन में थे. तो यह virus मेनफ्रेम कंप्यूटर सिस्टम को संक्रमित करता था. इस वायरस को हटाने के लिए “ray Tomlinson” द्वारा क्रीपर वायरस को destroy करने के लिए एक program बनाया गया जिसे “the reaper” के नाम से भी जाना जाता था. क्रीपर वायरस के बाद अनेक virus का जन्म हुआ।

पहले वायरस floppy disk के जरिए एक system से दूसरे system में जाते थे. परन्तु इंटरनेट के बढ़ते विकास से वायरस online तेजी से फैलने लगे. वर्ष 1987 में ही McAfee कंपनी द्वारा वायरस स्कैन नामक antivirus का पहला वर्जन लॉन्च किया गया.

1990 में कंप्यूटर एंटीवायरस अनुसंधान संगठन की स्थापना की गई. 1992 में AVG एंटीवायरस का पहला version लॉन्च किया गया. इस प्रकार समय के साथ विभिन्न कंपनियों द्वारा antivirus प्रोग्राम के निर्माण की ओर ध्यान दिया.

एंटीवायरस के प्रकार (Types)

Antivirus मुख्य रूप से तीन प्रकार के होते हैं। जो अपनी-अपनी गुणों के अनुसार वायरस से बचाव करने का कार्य करते हैं।

1. Standalone Antivirus

इसका उपयोग विशेष प्रकार के virus का पता लगाने और उन्हें कंप्यूटर से delete करने के लिए तैयार किया जाता हैं। इन्हे पोर्टेबल एंटीवायरस भी कहा जाता हैं। क्योंकि इस सॉफ्टवेयर का उपयोग USB ड्राइव के माध्यम से किया जाता हैं। यह हमें रियल टाइम प्रोटेक्शन जैसी सुविधा प्रदान करने में असमर्थ रहते हैं।

2. Security Software Suites

इस प्रकार का Antivirus पहले वाले कि तुलना में अच्छे तरीके से अपना काम करता हैं। यह सिर्फ वायरस को ही delete नहीं करता। बल्कि इसके साथ-साथ यह हमें एंटीस्पीवेयर और फायरवॉल जैसी सुविधाएं भी देता हैं। यह ऐसे virus से हमारी सुरक्षा करता हैं, जो किसी तरह हमारी file को नष्ट कर रहे होते हैं। यह Antivirus हमें 24 hours security प्रदान करता हैं।

Cloud-Based Antivirus Software

यह वर्तमान समय का सबसे सुरक्षित एंटीवायरस और उपयोगी Antivirus सॉफ्टवेयर हैं। यह कंप्यूटर के data को क्लाउड में Store करता हैं और यह वहीं से सभी files को स्कैन करता हैं। जिससे कंप्यूटर की इनपुट, आउटपुट प्रक्रिया तेज गति से चलती हैं। यह पूरे computer को कम समय रहते ही scan कर लेता हैं।

एंटीवायरस की विशेषताए

  • एंटीवायरस सॉफ्टवेयर आपके कंप्यूटर को वायरस से सुरक्षित रखता है।
  • वायरस न केवल आपके डेटा को नुकसान पहुंचाएंगे, बल्कि यह पूरे सिस्टम के प्रदर्शन को खराब कर सकते हैं।  लेकिन अगर आपके कंप्यूटर में एंटीवायरस सॉफ्टवेयर इंस्टॉल है  तो उन्हें ये हटा देता है।
  • अधिकांश एंटीवायरस प्रोग्राम में firewall की सुविधा होती है, फ़ायरवॉल सुविधा में आपके कंप्यूटर पर सूचनाएँ जाने वाली और प्राप्त करने वाली जानकारी की दो बार छानबीन करता है। इसलिए हैकर्स आपके कंप्यूटर से व्यक्तिगत जानकारी को निकाल नहीं पाएंगे।
  • स्पैम, विज्ञापनों और ईमेल से भी वायरस computer में आ जाता है, तो इससे कंप्यूटर को भारी नुकसान होता है। एंटीवायरस इस प्रकार के सभी विज्ञापनों, स्पैम और ईमेल को block कर देता है।
  •  एंटीवायरस सॉफ्टवेयर इंटरनेट सर्फिंग के दौरान आपकी बहुमूल्य information की सुरक्षा करता है
  • एंटीवायरस सॉफ्टवेयर आपके कंप्यूटर सिस्टम को स्पाइवेयर से सुरक्षित रखता है। स्पाइवेयर एक प्रकार का मैलवेयर है जो आपके computer पर जासूसी करता है और सभी secret सूचनाएं चुराता हैं। जैसे क्रेडिट कार्ड, पासवर्ड, बैंक विवरण आदि.

एंटीवायरस के लाभ (Advantage)

  • सबसे पहले ये आपके सभी data को सुरक्षित रखता है।
  • आप किसी भी सॉफ्टवेयर को बेझिक डाउनलोड कर सकते हैं।
  • अगर आप भुगतान करते हैं, तो आपके सभी ऑनलाइन लेन-देन भी सुरक्षित रहेंगे।
  • आपका सिस्टम कभी हैंग या स्लो नहीं होगा
  • सिस्टम सॉफ्टवेयर और एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर बहुत अच्छे से चलेंगे होंगे।
  • प्रोसेसिंग स्पीड बढ़ेगी और कभी सिस्टम क्रैश भी नहीं होगा।
  • कंप्यूटर से कोई भी आपके डेटा को इंटरनेट से कोई भी चुरा नहीं सकता।

एंटीवायरस के हानि (Disadvantage)

  • प्रत्येक Antivirus आपके computer को हर तरह से scan नहीं करता है। जैसे अगर एंटीवायरस Internet के द्वारा आने वाले वायरस को scan करता है तो वह antivirus अन्य किसी भी तरीके से आपके कंप्यूटर में आने वाले virus को रोक नहीं सकता है।
  • सभी antivirus वायरस को scan या खोजने के लिए एक ही programming तरीका का उपयोग करते हैं, लेकिन यदि कोई नया virus मिलता है, तो एंटीवायरस इसे scan नहीं कर पाता है
  •  हमारे कंप्यूटर में बहुत सारी फाइलें होती हैं जब हम इन फाइलों को खोलते हैं तब एंटीवायरस सभी को स्कैन करता है जिससे हमें बहुत समय लगता है।
  • इसी तरह इंटरनेट पर भी अगर हमने antivirus का उपयोग किया है तो हमारी Internet गति भी कम हो जाती है।

एंटीवायरस को अपडेट क्यों करे?

हर रोज नए नए वायरस बन रहें कुछ लोगों का ये भी कहना है। जो कंपनी एंटी वायरस बनाती हैं. वही वायरस भी बनाती हैं। इसलिए आपको नए वायरस के हमले से बचने के लिए हर रोज अपडेट करना बहुत जरूरी है। अपडेट से लेटेस्ट डेफिनिशन फाइल्स भी स्टोर हो जाएंगी और नए वायरस को आसानी से पहचाना और ब्लॉक किया जा सकेगा।

एंटीवायरस किस प्रकार का सॉफ्टवेयर है?

antivirus सॉफ्टवेयर, कभी कभी anti-malware सॉफ्टवेयर के रूप में जाना जाता है, malware सॉफ्टवेयर का पता लगाने, हटाने और रोकने के लिए प्रयोग किया जाने वाला computer software है। इन software’s में कइं प्रकार की techniques का प्रयोग किया जाता है।

Top 10 Best Antivirus नाम और उसकी किमत

  1. Net protector Anti virus
  2. Quick Heal Antivirus
  3. McAfee Antivirus
  4. Bit Defender Antivirus
  5. Norton Antivirus
  6. Avast
  7. AVG
  8. Panda
  9. Avira
  10. Total security

1. Net protector Antivirus

एक ऐसा ही anti virus है जो कंप्यूटर में आने वाली प्रोब्लम, मैलवेयर को दूर करता है या कहें तो Computer को हर तरह से सुरक्षित रखता है। यह अन्य antivirus की तुलना में बेहद अलग एवं अच्छी गुणवत्ता वाला antivirus माना जाता है। इसके अंतर्गत मुख्य रूप से Internet Security, Total Security, Z-Security, NPAV Net Protector Anti-Virus Pro 2022 आते हैं। इसकी प्राइस लगभग 3000 होती है।

net protector antivirus

2. Quick Heal Antivirus

आज के समय में सभी लोग अपनी फाइलें, डेटाबेस और सभी जरूरी दस्तावेज, यहां तक ​​कि ऑफिस की फाइलें और फोटो जैसी सभी महत्वपूर्ण चीजों को लैपटॉप या कंप्यूटर में सेव करके रखते है । क्विक हील एक ऐसा ही एंटी वायरस है जो कंप्यूटर में आने वाली तकनीकी समस्याओं को दूर करता है और कंप्यूटर को अपग्रेड रखने में मदद करता है। इसकी कीमत लगभग 1000 होती हैं।

Quick Heal Antivirus

3. McAfee Antivirus

यह भी बहुत पॉपुलर एंटीवायरस है जो कंप्यूटर में रखे हुए फाइल डाटा को सेव और सुरक्षित करके रखता है तथा कंप्यूटर को विभिन्न प्रकार की समस्याओं से भी बचाता है इसकी कीमत लगभग 1300 होती है.

mcafee antivirus in hind

4. Bit Defender Antivirus

यह एंटीवायरस एक ऐसा ही वायरस है जो कंप्यूटर को वायरस मुक्त और सुरक्षित रखने का काम करता है। इसके साथ ही सभी Device सुरक्षित रहते हैं। बिटडिफेंडर फ्री और पेड दोनों तरह का होता है– पेड वर्जन में आपको कुछ अतिरिक्त फीचर मिल जाते हैं। लेकिन फ्री वर्जन में भी यह सॉफ्टवेयर सबसे अच्छा काम करता है। इसकी कीमत लगभग 700 होती है

5. Norton Antivirus

computer या लैपटॉप जैसे चीजों को सुरक्षित रखने के लिए नॉर्टन एंटीवायरस प्रोग्राम बनाया गया है. जिसके माध्यम से कंप्यूटर को और इसमें रखे गए डेटा को वायरस से सुरक्षित रखा जा सकता है। नॉर्टन एंटीवायरस एक लोकप्रिय एंटी-वायरस सॉफ़्टवेयर है, इसकी कीमत लगभग 2000 होती है

norton antivirus

6. Avast Antivirus

computer के लिए बेस्ट antivirus की बात करें तो Avast का नाम सबसे टॉप मे आता है। Avast एक सरल इंटरफ़ेस के साथ आता है. जिसका बड़े पैमाने पर आसानी से उपयोग किया जा सकता है। सभी मैलवेयर स्कैन करने के साथ में अपने डिवाइस में पहले से इंस्टॉल करें सभी software को भी अच्छे से स्कैन करते हैं। अगर आपके कंप्यूटर में कोई वायरस या मैलवेयर है तो ये उसे अपने आप ठीक करने का भी विकल्प देता है। इसमें आपको स्मार्ट गेमिंग मोड, सॉफ्टवेयर अपडेटर और ब्राउजर क्लीन अप जैसे कुछ फीचर भी मिलेंगे। इसकी कीमत लगभग 1365 होती है

awast antivirus

7. AVG Antivirus

AVG भी एक अच्छा एंटीवायरस है जो बिना आपके सिस्टम को स्लो किए एक solid protection प्रदान करता है। जब आप अपने नेटवर्क पर online हो तो भी ये उस पर पूरी नजर बनाए रखते हैं। आप कौन सी Website खोल रहे हैं और आपका E-mail, सभी तरह की online गतिविधियों को भी पूरी सुरक्षा देता है। इस सॉफ्टवेयर की एक विशेषता यह है कि AVG आपके कंप्यूटर के ऑपरेटिंग सिस्टम के कामकाज में कोई खलल नहीं डालता। उसके साथ इसकी वजह से सिस्टम बूट पर भी इसका कोई प्रभाव नहीं पड़ता है। इसकी कीमत लगभग 699 होती है

avg antivirus

8. Panda Antivirus

यह एंटीवायरस आपके विंडो पीसी को वायरस और मैलवेयर से बचाता हैं। पांडा आपके सिस्टम को रियल टाइम प्रोटेक्शन देता है इसके साथ में क्लाउड क्लीनर और URL स्कैनिंग मिलती है जो सुरक्षित वेब ब्राउजिंग प्रदान करते हैं। इसमें USB सुरक्षा नाम की एक विशेषता है जो पेन ड्राइव, हार्ड डिस्क और मेमोरी कार्ड जैसे बाहरी उपकरण को आपके कंप्यूटर में घुसने पर उसमें मौजूद virus को सबसे पहले समाप्त कर देता है। इसकी कीमत लगभग 799 होती है

9. Avira Antivirus

यह काफी पॉपुलर एंटीवायरस सॉफ्टवेयर है। जब हम अपने laptop पर काम कर रहे होते हैं तब भी ये background में पूरी तरह से सुरक्षा होती है। आपका वेब ब्राउज़र और VPN के साथ भी ये बड़े सही से काम करते हैं। इसमें एक नेगेटिव भी हैं Avira के ब्राउज़र सेफ्टी कॉम्पोनेंट बस Google Chrome और Firefox के साथ ही काम करते हैं। इसकी कीमत लगभग 1365 होती है

10. Total security antivirus

यदि आप अक्सर usb और hard disk जैसे बाहरी उपकरणों का उपयोग करते हैं, तो ऐप एक स्कैनर प्रदान करता है जो इन उपकरणों को scan करता है और virus और मैलवेयर को आपके system में प्रवेश करने से रोकता है। Device में मौजूद वायरस के लिए, ऐप में एक system monitor है जो उन files की पहचान करता है और उन्हें अलग रखता है जो खतरा पैदा करती हैं। जब Network सुरक्षा की बात आती है, यह एक वाई-फाई सलाहकार, स्मार्ट फ़ायरवॉल,, घुसपैठ ब्राउज़र रक्षक, डिटेक्टर, वेबसाइट फ़िल्टर, इंटरनेट प्रॉक्सी, डेटा लॉकर और बहुत कुछ प्रदान करता. इसकी कीमत लगभग 1465 होती है

फ्री एंटीवायरस क्या है?

फ्री एंटीवायरस एंटीवायरस होते हैं जिनको इस्तेमाल करने के लिए आपको किसी भी प्रकार का पेमेंट नहीं करना पड़ता. इसे आप फ्री में कंप्यूटर में इंस्टॉल कर सकते हैं और कंप्यूटर को वायरस प्रोटेक्ट करके रख सकते हैं।

टॉप 5 फ्री एंटीवायरस

  1. Avast
  2. AVG
  3. Kaspersky
  4. Avira
  5. Defender

Total security antivirus बेस्ट क्यो है?

यह एक package में कंप्यूटर को कई सुरक्षा प्रदान करता है। यह malware और ransom ware सुरक्षा प्रदान करता है । यह आपके Device, नेटवर्क और E-mail को लगातार scan करते रहता है। इसमें एक उपयोगी spam फ़िल्टर और विज्ञापन blocker भी शामिल है । यह असुरक्षित लिंक पर Click करने से रोकता है। इसलिए टोटल सिक्योरिटी एंटीवायरस बेस्ट होता है।

Trial version और Full version क्या है।

Trial version मे कोई भी सॉफ्टवेयर को चलाते हैं तो वह केवल कुछ ही समय तक होता है। जब हम इस सॉफ्टवेयर चलाते हैं तो ये आज की तारीख और समय को सेव कर लेता है। सिमित अवधि के बाद उपयोगकर्ता उसे नहीं चला पाता और ब्लाक हो जाता है।और उस सॉफ्टवेयर को फुल वर्जन में चलाने के लिए हमें कुछ पेमेंट देना होता है। ट्रायल वर्जन में हमें कम फीचर मिलता है। फुल वर्जन में हमें उससे अधिक फीचर मिलता है.

FAQ

एंटीवायरस क्या है?

antivirus in hindi

एंटीवायरस या एंटीवायरस सॉफ्टवेयर, कभी कभी एंटी-मैलवेयर सॉफ्टवेयर के रूप में जाना जाता है, मैलवेयर सॉफ्टवेयर का पता लगाने, रोकने और हटाने के लिए प्रयोग किया जाने वाला कंप्यूटर सॉफ्टवेयर है. इन सॉफ्टवेयरों में कइं प्रकार की तकनीकों का प्रयोग किया जाता है।

एंटीवायरस क्या है इसके प्रकार?

Antivirus ये एक Program है. यह भी बोल सकते हो ये एक एसा Software है जो Computer में छुपे हुए सारे Virus Program को ढूंड निकालता है और उसको Computer से Delete यानि ख़तम कर देना

आज आपने सिखा

यहाँ हमने एंटीवायरस (What is Antivirus in Hindi) की पूरी जानकारी देने की कोशिश की है। एंटीवायरस हमारे कंप्यूटर सिस्टम को दुर्भावनापूर्ण सॉफ़्टवेयर और प्रोग्राम से सुरक्षित रखता है। But इस पर पूरी तरह विश्वास कर के नहीं बैठ सकते। ऐसे में यदि कोई नया तरह का कंप्यूटर Virus आता है। तब यह एंटीवायरस (What is Antivirus in Hindi) उसे पता नहीं चलता। इसलिए हमेशा अपडेटेड एंटीवायरस का इस्तेमाल करना चाहिए। उम्मीद करता हूं या लेख आपको पसंद आया होगा तथा आप लोग इसे अपने सोशल मीडिया पर दोस्तों के साथ शेयर कर के ताकि उसको भी एंटीवायरस के बारे में अच्छे से जानकारी मिल सके।

यदि यह पोस्ट (What is Antivirus in Hindi) आपको अच्छा लगा हो तो अपने दोस्तों को फेसबुक, Whatsapp और इन्स्ताग्राम इत्यादि में शेयर जरुर करें. इसी प्रकार के नए-नए टेक्नोलॉजी और बिजनेस स्टार्टअप की जानकारी के लिए आप मेरे YouTube चैनल computervidya और मेरा वेबसाइट nayabusiness.in में विजिट जरुर करें.

Related Post

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

हमारे साथ जुड़े

537FansLike
406FollowersFollow
818,000SubscribersSubscribe

पॉपुलर पोस्ट्स

error: Content is protected !!