What is Point to Point Protocol (PPP) in hindi? PPP क्या है?

Point to Point Protocol (PPP) in hindi

दोस्तों! आज हम PPP क्या है? (What is PPP in hindi) के बारे में बात करेंगे। जिसमें PPP के कार्य (PPP work hindi) के साथ-साथ PPP के विशेषताएं (advantage) और PPP की कमियाँ (disadvantage) को समझायेंगे। साथ ही इस लेख में हम PPP से जुड़े विभिन्न पहलु को जैसे SLIP एवम् point to point protocol के बारें में बताऊंगा।

PPP क्या है (What is PPP in Hindi)

PPP का पूरा नाम Point to Point Protocol (PPP) है. जो Serial Line Internet Protocol(SLIP) का एडवांस्ड वर्शन है. जिसने SLIP प्रोटोकॉल को replace किया है. PPP प्रोटोकॉल को IFC 1661 में डिफाइन किया गया है. जिसके कारण से RFC 1661 भी कहा जाता है.

Point-to-point-protocol-in-Hindi-computervidya

पॉइंट टू पॉइंट प्रोटोकॉल OSI मॉडल के डाटा लिंक लेयर में कार्य करता है. जिसका मुख्य कार्य दो डिवाइस के मध्य डायरेक्ट नेटवर्क कनेक्शन को stablish करना है. PPP प्रोटोकॉल पूरी तरह से डुप्लेक्स प्रोटोकॉल है. अर्थात PPP प्रोटोकॉल से जुड़े कंप्यूटर आपस में एक साथ कम्यूनिकेट कर सकते है.

PPP प्रोटोकॉल को IETF (Internet Engineering Task Force) के द्वारा बनाया गया था. PPP प्रोटोकॉल को बनाने का मुख्य उद्देश्य दो डिवाइस के बिच में पॉइंट तो पॉइंट लिंक करके डाटा ट्रांसमिट करना था.

Point-to-point-Protocol-in-hindi

PPP प्रोटोकॉल को IETF (Internet Engineering Task Force) के द्वारा बनाया गया था. PPP प्रोटोकॉल को बनाने का मुख्य उद्देश्य दो डिवाइस के बिच में पॉइंट तो पॉइंट लिंक करके डाटा ट्रांसमिट करना था. यह तीन प्रोटोकॉल datagram encapsulation protocol, (Link Control Protocol)LCP और Network Control Protocol (NCP) का कलेक्शन है.

Example: – Dialup connection, ISDN line

PPP का उपयोग( PPP use in hindi)

PPP प्रोटोकॉल TCP/IP ग्रुप का एक प्रोटोकॉल है. जिसका उपयोग डायल अप (dial up) कनेक्शन के लिए किया जाता है. PPP प्रोटोकॉल के काम करने का तरीका SLIP प्रोटोकॉल की तरह है. जब दो कंप्यूटर को आपस में जोड़ दिया जाता है जिससे की उनमे डायरेक्ट कम्युनिकेशन हो सके, तो इस प्रकार के डाटा कम्युनिकेशन में पॉइंट तो पॉइंट प्रोटोकॉल का उपयोग होता है.

ppp-frame-format

PPP सबसे अधिक उपयोग होने वाला link protocol है. इसका उपयोग कंप्यूटर को इन्टरनेट से जोड़ने के लिए मॉडेम और ISP (Internet Service Provider) के बिच connection stablish करने में किया जाता है.

PPP का उपयोग विभिन्न प्रकार के नेटवर्क में किया जाता है जैसे सीरियल लाइन, फ़ोन लाइन, ट्रंक लाइन, सेलुलर टेलेफोन, रेडियो लिंक और फाइबर ऑप्टिक्स लाइन में किया जाता है.

PPP का उपयोग इन्टरनेट में भी किया जाता है. जिसमे internet service Provider (ISP) ग्राहक को डायल अप कनेक्शन प्रदान करने में PPP का उपयोग करता है.

Disadvantage of PPP

    1. PPP के लिए सर्विस और इंफ्रास्ट्रक्चर थोड़ी महँगी है.
    2. PPP प्रोटोकॉल मीडिया एक्सेस कण्ट्रोल प्रोवाइड नहीं करता है.

PPP का उपयोग( PPP use in hindi)

SLIP का पूरा नाम Serial Line Internet Protocol (SLIP) है. यह एक legacy प्रोटोकॉल है. जिसका उपयोग कंप्यूटर को इन्टरनेट से जोड़ने के लिए Modem और ISP (Internet Service Provider) के बिच connection stablish करने के लिए किया जाता था.

PPP और SLIP में अंतर (Deference between SLIP & PPP)

difference-between-SLIP-and-PPP-in-Hindi-SLIP-and-PPP-ke-beech-antar-computervidya

तो दोस्तों उम्मींद करता हु यह लेख PPP क्या है ( What is PPP in hindi) आपको बहुत पसंद आया होगा। अगर आपको यह लेख ( PPP kya hai ) पसंद आया हो तो लाइक करें। लोगो को शेयर करें।

अब दोस्तों यदि कोई ये PPP क्या है ? (What is PPP in hindi) से जुड़े तथ्यों की चर्चा करता है PPP क्या है? (What is PPP in hindi) तो आप आसानी से जवाब दे पाएंगे। दोस्तों कोई सवाल आप पूछना चाहते है तो निचे Comment Box में जरुर लिखे और अगर आपके को सुझाव है तो जरुर दीजियेगा। दोस्तों हमारे अन्य वेबसाइट https://www.nayabusiness.in एवं Youtube चैनल computervidya को अगर आप अभी तक सब्सक्राइब नहीं किये तो तो जरुर सब्सक्राइब कर लेवें।

Related Post

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

हमारे साथ जुड़े

537FansLike
406FollowersFollow
561,000SubscribersSubscribe

पॉपुलर पोस्ट्स

error: Content is protected !!