कंप्यूटर में रजिस्टर क्या है और कितने प्रकार के होते है?- What is Computer Register in Hindi

Computer Register in Hindi: आज के इस पोस्ट में हम आपको कंप्यूटर रजिस्टर के बारें में बताएँगे. इसके साथ साथ रजिस्टर के प्रकार, जरुरत, उपयोग को विस्तार से बताएँगे. पूरी जानकरी के लिए पोस्ट को पूरा जरुर पढ़े.

कंप्यूटर में रजिस्टर क्या है? (What is Computer Register in Hindi)

रजिस्टर को कंप्यूटर मेमोरी के नाम से भी जानते हैं यह बहुत तेज मेमोरी होती है जिसका उपयोग डाटा को Store करने के लिए किया जाता है। रजिस्टर का उपयोग CPU के द्वारा बहुत सारे ऑपरेशन्स को करने के लिए किया जाता है। जब हम कोई Input सिस्टम को देते है तो ये Input रजिस्टर में स्टोर हो जाते है और सिस्टम के processing के बाद जो आउटपुट मिलता है वो भी रजिस्टर से ही प्राप्त होता है। तो हम कह सकते है कि रजिस्टर का प्रयोग CPU के द्वारा डाटा को process करने के लिए किया जाता है

what is computer register in hindi

यह memory एक प्रकार से हाई स्पीड मेमोरी होती है जो computer के process के दौरान निर्मित होती है यह वर्तमान में process हो रहे Data इसी प्रकार निर्देशों व परिणामों को स्टोर करके रखने का कार्य करता है। register मेमोरी अन्य प्रकार कि मेमोरी की तुलना सबसे तेज और सबसे कम storage क्षमता रखता है।

रजिस्टर कितने प्रकार के होते है? (Types)

Computer में कई प्रकार के register हैं जो कंप्यूटर instructions को निष्पादित करने के लिए उपलब्ध हैं। उनमें से कुछ important नीचे दिए गई हैं.

  • Memory address register
  • Instruction register
  • Address register
  • Accumulator
  • Program counter
  • Memory buffer register
  • Index register
  • Data register
  • Input output register

Memory address registers (MAR)

यह रजिस्टर डाटा के address को रखने का काम करता है। निर्देश के execution के दौरान ही memory से डाटा या इंस्ट्रक्शन को एक्सेस करने का कार्य यह मैमोरी एड्रेस रजिस्टर करता है। इस register का उपयोग मेमोरी की एड्रेसिंग के लिए किया जा सकता है। ये रजिस्टर इंफॉर्मेशन के उस एड्रेस को रखने का कार्य करता है जहाँ से वह आ रहा होता है और जहाँ उसे स्टोर होना होता है। सामान्य भाषा में कहे तो यह memory से रीड किए data के एड्रेस को स्टोर करके रखता है।

Instruction registers (IR)

Instruction register प्रोसेस के दौरान किसी दिए गए Time मे केवल एक ही इंस्ट्रक्शन को execute करता है। यह register उस इंस्ट्रक्शन को कंट्रोल यूनिट अर्थात control room में जाने से पहले stored करके रखता है। सामान्य भाषा में कहे तो यह memory एक्जिक्यूट होने वाले Instructions को स्टोर करके रखता है।

Address register

Address register एक CPU रजिस्टर होता है जिसका काम memory address को स्टोर करना होता है यानि कि यह जानकारी Store करता है कि CPU डेटा कहा से प्राप्त करेगा और कहा send या Store करेगा।

Accumulator

इस तरह के रजिस्टर रिजल्ट Store करते हैं जो सिस्टम के द्वारा produce किये जाते हैं। जब भी सीपीयू किसी भी तरह का ऑपरेशन परफॉर्म करता है तो उसका रिजल्ट इसी में Store होता है।

Program counter (PC)

यह 8085 microprocessor में 16 bit स्पेशल फंक्शन रजिस्टर है। इसे इंस्ट्रक्शन प्वाइंटर रजिस्टर के रूप में भी जाना जाता है | यह सीपीयू द्वारा process किये जा रहे प्रोग्राम के Next इंस्ट्रक्शन की memory address का पता रखता है, जिससे वर्तमान Instruction के पूरा होने के बाद अगली Instruction को CPU द्वारा जल्दी से प्राप्त कर एक्जीक्यूट किया जा सके |

दूसरे शब्दों में, यह microprocessor द्वारा वर्तमान इंस्ट्रक्शन को एक्जीक्यूट करने के बाद के अगले इंस्ट्रक्शन की memory location का पता रखता है।

Memory buffer register (MBR)

यह register MAR के द्वारा निर्धारित किये गए memory location की एक copy रखता है। जिसे किसी डाटा को रीड या राइट करते समय उपयोग किया जाता है अर्थात यह रजिस्टर, मेमोरी में आ रहे या मेमोरी से जा रहे डाटा एवं इंस्ट्रक्शन को स्टोर करके रखने का Work करता है। सामान्य भाषा में कहे तो यह मेमोरी से read किए गए डेटा को स्टोर करके रखता है।

Index register

यह एक हार्डवेयर एलिमेंट है जो कि एक नंबर को Store करके रखता है इस नंबर को कंप्यूटर इंस्ट्रक्शन में add किया जाता है। इस register को base रजिस्टर भी कहते है।

Data register

यह एक 16 बिट रजिस्टर है, जिसका उपयोग Processor द्वारा संचालित होने वाले variables को store करने के लिए किया जाता है। यह Input or output device से प्राप्त data को अस्थायी रूप से Store करने का कार्य करता है |

Input output register

इनपुट आउटपुट रजिस्टर का उपयोग I / O Device का address रखने के लिए किया जाता है | यहाँ पर I/O का मतलब input और output Device से है |

यह भी पढ़े:-

रजिस्टर की आवश्यकता क्यों पड़ती है?

यह computer memory की तुलना में काफी फास्ट होती है। रजिस्टर निर्देशों के तेजी से Operation के लिए अधिक उपयोगी है। यह कंप्यूटर मेमोरी के Top पर स्थित है। यह address, Instructions या किसी अन्य प्रकार के छोटे Data को Store कर सकता है।  निर्देशों के तेजी से Operation के लिए, CPU रजिस्टर अत्यधिक उपयोगी है । यह रजिस्टर, instruction, address या किसी अन्य प्रकार का छोटा डेटा store करके रख सकता है। इस प्रकार के रजिस्टर, cpu  के संचालन को अधिक कुशल और सार्थक बनाते है।

रजिस्टर का क्या उपयोग है?

रजिस्टर के मुक्य रूप से तीन ही उपयोग होते है. जिनकी जानकारी निचे दे रहे है.

  • Fetch
  • Decode
  • Execute

1). Fetch

Fetch Operation का प्रयोग यूजर्स के द्वारा दिए गए निर्देश को लेने के लिए किया जाता है और जो इंस्ट्रक्शन main मेमोरी में स्टोर होते है उन्हें रजिस्टर के द्वारा fetch किया जाता है। Fetch इस ऑपरेशन के द्वारान CPU रजिस्टर main memory यानी RAM से वह सभी इंस्ट्रक्शन लेते हैं जो user द्वारा कंप्यूटर को दिए जाते हैं।

2). Decode

इस ऑपरेशन के द्वारान रजिस्टर उन सारी इंस्ट्रक्शन को decode करके यह पता लगाते हैं की उनके साथ कौन से ऑपरेशन परफॉर्म करवाने हैं। डिकोड आपरेशन का प्रयोग इंस्ट्रक्शन को interpret करने के लिए किया जाता है अर्थात सीपीयू ये देखेगा कि कौन सा ऑपरेशन किस इंस्ट्रक्शन पर perform होगा।

3). Execute

execute Operation को सीपीयू के द्वारा execute किया जाता है। और सीपीयू के द्वारा जो आउटपुट प्राप्त होगा वह main मेमोरी में Store हो जाएगा और उसके बाद यह यूजर के स्क्रीन पर डिस्प्ले होगा। इस operation के द्वारान इंस्ट्रक्शन पर वे सभी ऑपरेशन परफॉर्म किये जाते हैं जिनके बारे में decoding की process के दौरान पता लगाया गया था।

रजिस्टर मेमोरी की विशेषताएं

  • यह सबसे तेज़ memory block हैं इसलिए main memory की तुलना में instructions को तेजी से execute करता है।
  • CPU द्वारा register की सहायता से instructions को अनुग्रह और सुगमता से control किया जाता है।
  • Register की मदद से CPU द्वारा इंस्ट्रक्शन को काफी सरल तरीके से handle किया जाता है।
  • Internal storage के अन्य रूपों की तुलना में compiler के माध्यम से register को आसानी से उपयोग किया जाता है।
  • आज के इस digital दुनिया में शायद ही कोई सीपीयू होगा जिसमे register न हो।
  • Register तेज मेमोरी ब्लॉक है, इसलिए मेन मेमोरी की तुलना में instructions को तेजी से Execution किया जाता है।
  • इसका उपयोग variable रखने के लिए कर सकते हैं, इससे memory traffic कम हो जाता है।

रेजिस्टेंस और रजिस्टर में क्या अंतर है?

  • रजिस्टर एक डिवाइस होता है। जबकि रेजिस्टेंस एक राशि है जो की सभी उपकरण की होती है। रसिस्टर ओर रेजिस्टेंस दोनो को हम R और ohm से दर्शाते है।

सबसे तेज मेमोरी कौन सा है?

  • सबसे तेज cache memory होती है। कैश मेमोरी एक विशेष high speed वाली मेमोरी है।
  • इसका उपयोग उच्च गति के cpu के साथ गति और synchronized करने के लिए किया जाता है। कैश मेमोरी main memory या disk memory की तुलना में महंगा है लेकिन cpu registers की तुलना में काफी उपयोगी रहता है।
  • Cache memory एक बहुत तेज़ मेमोरी है जो RAM और CPU के बीच buffer के रूप में कार्य करता है।
  • यह अक्सर requested डेटा और Instructions रखता है ताकि जरूरत पड़ने पर वे तुरंत cpu के पास उपलब्ध हों।cache memory का उपयोग main memory से data तक पहुंचने के लिए औसत टाइम को कम करने के लिए किया जाता है।

5 प्रकार के रजिस्टर कौन से हैं?

  • Program counter.
  • Memory address register
  • Memory data register
  • Current instruction register
  • Accumulator

यह भी पढ़े:

FAQ

कंप्यूटर में रजिस्टर क्या है

Register एक बहुत ही तेज कंप्यूटर मेमोरी होती है जिसका प्रयोग data को स्टोर करने के लिए किया जाता है.

कंप्यूटर में रजिस्टर की आवश्यकता क्यों होती है?

यह कंप्यूटर मेमोरी की तुलना में काफी तेज होती है। रजिस्टर निर्देशों के तेजी से संचालन के लिए अधिक उपयोगी है। यह कंप्यूटर मेमोरी के शीर्ष पर स्थित है। यह एड्रेस, निर्देश या किसी अन्य प्रकार के छोटे डाटा को स्टोर कर सकता है।

रजिस्टर मेमोरी (Register Memory) दो प्रकार की होती है –

1. मेमोरी एड्रेस रजिस्टर – MAR
2. मेमोरी बफर रजिस्टर – MBR

आज आपने सिखा

यहाँ हमने कंप्यूटर में रजिस्टर क्या है और कितने प्रकार के होते है? – What is Computer Register in Hindi की पूरी जानकारी को हिन्दी में देने की प्रयास किया है। रजिस्टर (What is computer Register in Hindi) कंप्यूटर मेमोरी का महत्वपूर्ण पार्ट है जिसके बिना डाटा को स्टोर करना बहुत ही मुस्किल होता है रजिस्टर की मदद से आसानी से डाटा को स्टोर किये जा सकते है. मुझे पूरा विश्वाश है की यदि आपने इस पोस्ट को पूरा पढ़ा होगा तो आपको रजिस्टर क्या है और कितने प्रकार के होते है? से जुड़े विभिन्न तथ्यों की जानकारी मिल गया होगा.

यदि यह पोस्ट कंप्यूटर में रजिस्टर क्या है और कितने प्रकार के होते है?- What is Computer Register in Hindi आपको अच्छा लगा हो तो अपने दोस्तों को फेसबुक, Whatsapp और इन्स्ताग्राम इत्यादि में इस पोस्ट कंप्यूटर में रजिस्टर क्या है और कितने प्रकार के होते है?- What is Computer Register in Hindi को शेयर जरुर करें. इसी प्रकार के नए-नए टेक्नोलॉजी और बिजनेस स्टार्टअप की जानकारी के लिए आप मेरे YouTube चैनल computervidya और मेरा वेबसाइट nayabusiness.in में विजिट जरुर करें.

Related Post

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

हमारे साथ जुड़े

537FansLike
406FollowersFollow
841,000SubscribersSubscribe

पॉपुलर पोस्ट्स

error: Content is protected !!