Home Internet and Web technology What is CSS in Hindi | CSS क्या है? Cascading Style Sheet...

What is CSS in Hindi | CSS क्या है? Cascading Style Sheet in Hindi


CSS(Cascading Style Sheet) क्या है?

CSS का पूरा नाम Cascading Style Sheet है। यह एक Style sheet language है। जिनका उपयोग webpage को स्टाइल प्रोवाइड करने के लिया किया जाता है। दुसरे शब्दों में CSS का उपयोग करके webpage में उपस्थित HTML Element को Customize करने के लिए किया जाता है। साथ ही कैस्केडिंग स्टाइल शीट में माध्यम से हम webpage में उपस्थित HTML Element को स्टाइल प्रोवाइड करते है।

CSS का उपयोग html के साथ Web page को डिजाईन करने के लिए किया जाता है। CSS में HTML की तरह General English और कुछ Symbol का उपयोग किया जाता है।


CSS का उपयोग :-

Cascading Style Sheet का उपयोग वेबसाइट को attractive Design प्रदान करने के लिए किया जाता है। CSS का उपयोग webpage के layout को सजाने के लिए किया जाता है साथ ही webpage के background, Font, Font color एवम् उसके स्टाइल को css के माध्यम से सजाया जा सकता है।

CSS की हेल्प से वेबसाइट को Responsive बनाया जा सकता है। अर्थात अलग-अलग साइज़ के डिवाइस के लिए अलग अलग वेबसाइट बनाने की जरुरत नहीं है CSS की मदद से सभी डिवाइस जैसे लैपटॉप, डेस्कटॉप, मोबाइल फ़ोन, टेबलेट की विभिन्न स्क्रीन साइज़ के लिए एक ही वेब साईट बनाया जा सकता है।


CSS History & Version in Hindi:-

CSS को पहली बार Hakon Wium Lie (हाकोन वेम लाई) ने 10 Oct 1994 को प्रस्तावित किया था जो की टीम बेर्नेर्स ली के साथ CERN नामक organization में कार्य करते थे।जो की European Research Organization था इसके पश्चात सन 1996 में W3C (World Wide Web Consortium) द्वारा CSS level 1 को प्रकाशित किया गया। CSS के Version 1 से अब तक तिन क्रमशः Version CSS version 2, CSS Version 2.1 और CSS level 3 प्रकाशित हो चुके है। CSS का नवीनतम वर्शन CSS3 है। जो की 2005 में release हुआ था।

यह भी पढ़ें:-


Why to Use CSS?

CSS के उपयोग से Web page को HTML की तुलना में असानी से Create किया जा सकता है और इसके निम्न लिखित फायदे है।

    1. More Effective
    2. More Attractive
    3. More Customize
    4. Less Time
    5. Less Code

HTML की जगह में हम Web page को कम समय में कम कोड का प्रयोग करके ज्यादा attractive, effective और Customize कर सकते है।


Advantage of CSS in Hindi:-

    1. Time Saving
    2. Less page Size
    3. Creative Look
    4. Responsive Design
    5. Effective Performance
    6. Easy to Learn
1. Time Saving:-

web page को डिजाईन करते समय CSS के उपयोग करने से बहुत अधिक समय की बचत होती है क्योंकि HTML की तुलना में CSS में हमे code कम लिखने पड़ते है और एक ही कोड को विभिन्न जगह में प्रयोग किया जा सकता है।

2. Less Page Size:-

webpage को डिजाईन करते समय HTML की तुलना में CSS में हमें कम कोड लिखने की जरुरत पड़ती है जिसके कारण वेबपेज की साइज़ बहुत कम होती है और उसके कारण Website की स्पीड काफी बढ़ जाती है।

3. Creative Look:-

दोस्तों वेबसाइट की डिजाईन के साथ साथ वेबसाइट का लुक बहुत मायने रखता है जितना अच्छा हमारा साईट दिखेगा उतने ही ज्यादा visitor हमारे साईट पर विजिट करेंगे और हम css की मदद से हमारे वेबसाइट को attractive लुक प्रदान कर सकते है।

4. Responsive Design:-

दोस्तों वर्तमान समय में डिवाइसों की संख्या बढती जा रही है साथ समय समय में उसके स्क्रीन साइज़ भी बदलते जा रहे है अतः हमारा वेबसाइट ऐसा होना चाहिए जो सभी स्क्रीन साइज़ में अच्छे से दिखे और ऐसे वेबसाइट को responsive वेबसाइट कहा जाता है जो की CSS की मदद से असानी से बनाया जा सकता है।

5. Easy to Learn:-

दोस्तों CSS को Style Sheet Language कहा जाता है लेकिन दोस्तों ये अन्य programming लैंग्वेज की तरह difficult नहीं होता है इसमें सामान्य इंग्लिश और कुछ symbol का प्रयोग किया जाता है जो आसानी से सिखा जा सकता है।

6. Effective Performance:-

दोस्तों Cascading Style Sheet के प्रयोग करके बनाये गए वेबसाइट की साइज़ बहुत ही कम होती है जिसके कारण इनकी स्पीड काफी अधिक होती है जिसके कारण वेबसाइट में visitor की संख्या बढती जाती है।

यह भी पढ़ें:-

तो दोस्तों! उम्मीद करते है इस पोस्ट कैस्केडिंग स्टाइल शीट क्या है?, What Is CSS In Hindi से आपको कुछ अच्छी जानकारी जरुर मिली होगी अगर आपको ये पोस्ट अच्छा लगा तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर जरुर करें और अगर आपका कोई सवाल या सुझाव हो तो पोस्ट के निचे कमेंट करना ना भूलें। धन्यवाद् !

Related Post

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

पॉपुलर पोस्ट्स

Copy Protected by Chetan's WP-Copyprotect.